All Categories


Pages


RSS

Most Recent Articles

मुल्क क्या बंटा, उर्दू मुसलमान हो गई ???

घर क्या बंटा, बेटी अनजान बन गई।मुल्क क्या बंटा, उर्दू मुसलमान हो गई।Rajeev Sharma Kolsiya बचपन से ह

ईरान और सऊदी अरब “शिया-सुन्नी” के नाम पर मुसलमान को गुमराह कर रहे हैं

सबसे ज्यादा बेवकूफ़ वो लोग होते हैं जिनकी तबाही के लिए दुनिया घात लगाए बैठी हो, और वो लोग हों कि आपस मे अपनों ही की

बस दुश्मनी है, जो निभानी है क़ब्र तक, डंडा है जो बजवाना है अपनी पीठ पर क़ब्र में हश्र तक ।

देवबन्दी बरेलवी और अहले हदीस, आम तौर से हिन्दुस्तानी सुन्नी मुसलमान इन तीन फ़िरक़ों में बंटे हुए हैं, और इनके आपस

मदरसे, मुसलमानों के पैसे से चलते थे, चलते हैं और चलते रहेंगे।

जस्टिस राजेंद्र सच्चर ने मुसलमानों को आरक्षण देने की वकालत करती हुई ऐसी रिपोर्ट पेश की जिसे पढ़ कर कोई भी ईमानदार

तो ‘जय हिंद’ का नारा एक मुस्लमान ने दिया था !!

हम अब तक यही मानते आए हैं कि सुभाष चंद्र बोस ने सबसे पहले ‘जय हिंद’ का नारा दिया था, लेकिन हैदराबाद की महान शख्सि

“अब तुम्हारे हवाले वतन साथियो” लिखने वाला शायर ‘कैफ़ी आज़मी’

कैफ़ी आज़मी (असली नाम : अख्तर हुसैन रिजवी) उर्दू के एक अज़ीम शायर थे। उन्होंने हिन्दी फिल्मों के लिए भी क

सेनापति हकीम खां सूर की मजार पर असामाजिक तत्वों ने की तोड़फोड़

मेवाड़की आन-बान शान के लिए हल्दी घाटी के युद्ध में अकबर के खिलाफ तलवार खिंचने वाले प्रमुख अफगानी योद्धा हकीम खा
Page Navigation: Previous 1 ... 57 58 59 60 61 62 63 64 65 Next (All)

Most Viewed - All Categories


Daily Khabarnama Daily Khabarnama