All Categories


Pages


डॉ. अनिरूद्ध चटर्जी घर पर चला रहा था हथियारों की फैक्टरी.. हिंदी मीडिया में कोई खबर नहीं ...

रायपुर। राजधानी पुलिस ने एक ऐसे व्यक्ति को गिरफ्तार किया है, जो न सिर्फ पेशे से डॉक्टर है, बल्कि वह हथियारों का भी ‘डॉक्टर’ है। वह घर पर ही हथियारों की फैक्टरी संचालित कर रहा था। पुलिस ने जब टैगोर नगर स्थित एमआर कॉलोनी में मकान नं. 232/आई में शनिवार देर रात दबिश दी तो अफसरों के भी होश उड़ गए। होम्योपैथी डॉ. अनिरूद्ध चटर्जी के इस घर के तीसरे माले के एक बड़े कमरे में बंदूके, पिस्टल, जिंदा कारतूस से लेकर तीर-कमान दीवारों में सजे हुए थे।


कुछ हथियार लाफ्ट में रखे थे। हथियारों की इतनी संख्या थी कि 6 थाना प्रभारी और थानों की टीमों को हथियारों की काउंटिंग करने में 12-14 घंटे लग गए। हालांकि डॉक्टर से हुई पूछताछ में नक्सल कनेक्शन की बात अब तक सामने नहीं आई है, लेकिन पुलिस अन्य कनेक्शन की तलाश में जुट गई है। पुलिस डॉक्टर को 3 दिन की रिमांड में लेकर पूछताछ करेगी।
डॉक्टर तक पहुंचने में आरक्षक महेश नेताम, सुनील पाठक और नोहर देशमुख ने महत्वपूर्ण भूमिका अदा की। इन्होंने लक्ष्‌मीनगर, टिकरापारा निवासी राजेश पाल पर पैनी नजर रखी, क्योंकि यह व्यक्ति पिस्टल लेकर घुम रहा था। क्राइम ब्रांच टीम ने राजेश को गिरफ्तार किया और निशानदेही पर उसके घर से पिस्टल और 7 नग जिंदा कारतूस बरामद किए। राजेश में यह भी बताया कि यह पिस्टल उसके अभिन्न दोस्त डॉ. अनिरूद्ध चटर्जी ने उसे दी है। तब अफसरों के कान खड़े हुए और देर रात ही डॉक्टर के घर पर दबिश और डॉक्टर को गिरफ्तार कर लिया गया था। इस गिरफ्तारी से एमआर कॉलोनी में हड़कंप मचा हुआ है। डॉक्टर अपने घर पर और बूढ़ापारा के एक अन्य क्लीनिक में सेवाएं देता था। राजेश कंस्ट्रक्शन का काम करता है।
घर में भी इन हथियारों की थी प्रदर्शनी
_______________
1- 315 बोर मोडीफाइड गन, 12 बोर गन, 32 रिवाल्वर, 148 जिंदा राउंड, 529 खाली राउंड, 16 डिब्बा .22 के छर्रे, 1 डिब्बा गन पाउडर, 10 एयर गन पार्ट्स, 8 रिवाल्वर ग्रिप्स, 1 एयर गन बैरल, 4 रायफल बट, 1 रायफल हैंडल, 1 हैंड ग्राइनडर 1 कटर मशीन, 1 दिशा सूचक, 2 एयर गन, 1 डमी गन, 01 एयर पिस्टल, 01 डमी रिवाल्वर।
2- 7 तलवार, 2 कटार, 1 गड़ासा, 2 चाकू, 3 बटनदार चाकू, 2 भाला, 3 फरसा, 1 खुखरी, 20 प्लेन तीर।
सारे कनेक्शन तलाशे जा रहे हैं
_______________
अब तक पूछताछ में डॉ. अनिरूद्ध ने इन सब हथियारों को शौक बस रखना, मॉडीफाई करना कबूला है। बिल्कुल, किताबें पढ़कर हथियारों को मॉडिफाई करता था।हमें भी कई सवालों के जवाब हासिल करने है, अन्य सारे कनेक्शन तलाशे जा रहे हैं।
अजातशत्रु बहादुर सिंह, एडिशनल एसपी, क्राइम

video.. https://www.youtube.com/watch?time_continue=12&v=Abs9ig268lU




About the Author

Administrator

http://teesrijungnews.com/national


Comments


No comments yet! Be the first:

Your Response



Most Viewed - All Categories


Daily Khabarnama Daily Khabarnama